There is no friend

as Loyal as a Book...

SAMACHAR

Monthly Magazine

January

February

April

April

May

June

July

August

September

October

November

December

RASHTRABHASHA

HINDI DIVAS

RESULTS - 2018

WHO WE ARE

SHABARI the Becon Light of HINDI ...

A Leading Hindi Book Publishers from South India their prime motto is service.

 

               Sri Shabari Agencies was started by Mr. S. Gunasekaran, the Staunch lover and supporter of Hindi in the year 1980 with the motive of making availability of Hindi books in Salem.  He started Hindi Vidyalaya to teach Hindi to those who had a deep desire to learn Hindi. After his demise in 1996, it was rejuvenated and renamed as New Shabari Agencies.  In 2000 We established Shabharriee Publiycations under the leadership of Mr. V. Manoharan where we released school books for children in Hindi . We published Guides and Gandhiji’s Q & A books for D.B.H.P. Sabha Exams.  We opened Shabari Book House in the year 1998 where we published Self Learning Series.  These Series were boon to the new learners. They learn Hindi through their regional language (Through Tamil and English).  This was really one more feather in our cap.  We are also fanning Hindi by our Shabari Siksha Samachar,  a monthly magazine containing well written articles in English, Tamil, Hindi and Sanskrit. Our Motto is propagation of National Language Hindi in Nonspeaking Area Tamil Nadu. Hindi should reach in nook and corner of Tamil Nadu.  People of Tamil Nadu should enjoy Hindi not as an alien language but as sweet as sister language. With  our National Language we are now familiar for Tamil, English and Maths beginners books too.  With this ambition we steer our boat of business. Be Indian and be human is our daily prayer.

 

             With the greatest support of the well wishers, heads of the institutions, Pracharaks readers and students.  We are publishing variety of books and study materials.

 

 Expecting your kind co-operation.  Support and motivation forever.

WHAT WE DO

Provide the Best Service

शबरी की हिन्दी सेवा...

- एम. श्रीधर, संस्थापक, शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 

शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 दक्षिण भारत के अहिन्दी भाषा प्रदेश तमिलनाडु के सेलम शहर से प्रांत में मात्र नहीं भारत भर में हिन्दी की सेवा में शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम लगा हुआ है |  विभिन्न प्रकार से इस संस्थान की सेवा निरंतर आगे बढती जा रही है |  हर घर में हिन्दी, हर मन में हिन्दी का नारा अपनाकर यह संस्थान सन् १९९८ से लगभग आज तक हिन्दी सेवा में निरंतर कार्यरत है |  आरंभ में दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा परीक्षाओं के लिए छात्रों को भेजकर इस संस्थान की सेवा शुरू हुई |  सेलम शहर में हिन्दी पुस्तकों को उपलब्ध करने के उद्देश्य से पुस्तक बिक्री शुरू की गयी |

प्रकाशन विभाग

 हिन्दी की बढती मॉंग तथा बढती हिन्दी सेवा को ध्यान में रखते हुए हिन्दी प्रकाशन विभाग शुरू किया गया | आरंभ में हिन्दी परीक्षाओं के लिए सरल व उपयोगी गॉंधीजी प्रश्‍नोत्तर प्रकाशित किया गया |  नमूने के प्रश्‍न पत्र छापे गये |  शबरी ज्ञान बोधिनी के प्रकाशन से अनेकानेक हिन्दी हृदय लाभान्वित हुए |  फिर छात्रोपयोगी किताबें प्रकाशित की गयीं | विद्यालयों के उपयोगी पुस्तकें निकाली गयीं |  ज्ञानवर्धत तथा भाषा को विकसित करनेवाली अनेक पुस्तकें निकाली गयी |  छात्रोपयोगी कुंजियॉं निकाली गयी |  हिन्दी लेखकों और कवियों का सम्मान करने हेतु कुछ पुस्तकें छापी  गयीं |  दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा के प्राथमिक से प्रवीण तक की परीक्षाओं के लिए कुंजियॉं तैयार करने लगे |  निबंध, व्याकरण आदि के भी पुस्तकें निकाली गयीं |  शबरी शब्द सागर-त्रिभाषा हिन्दी कोश निकालकर अपने आप को एक सफल प्रकाशक बनाने का श्रेय भी इस संस्थान को मिला है |  प्रकाशन विभाग से अभी तमिल और अंग्रेजी में भी पुस्तकें प्रकाशित की जारी है |  साहित्य के साथ भाषा के संपूर्ण विकास का प्रयास निरंतर जारी है |

शबरी शिक्षा समाचार पत्रिका

 शबरी शिक्षा समाचार पत्रिका शबरी से निकाली जानेवाली मासिक पत्रिका है |  पिछले बीस सालों से यह पत्रिका निरंतर निकाली जा रही है |  दक्षिण भारत से निकाली जानेवाली एक मात्र निजी मासिक साहित्यिक पत्रिका शबरी शिक्षा समाचार है |  नव लेखकों को प्रेरणा देने के साथ साथ साहित्य को समृद्ध बनाने का काम निरंतर इस पत्रिका से किया जा रहा है |  पत्रिका भारत भर में मात्र नहीं विदेशों में भी भेजी जा रही है |  अनेकानेक हिन्दी प्रेमी इससे लाभान्वित हैं |

शबरी परिवार मिलन

 हिन्दी हृदयों को एक झुट में लाने तथा उनमें आत्मीयता बढाने के उद्देश्य से तमिलनाडु के विभिन्न शहरों में शबरी परिवार मिलन चलाया जाता है |  हिन्दी से संबंधित विभिन्न विषय इसमें स्थान पाता है |  प्रशिक्षण के साथ हिन्दी हृदयों में प्रेरणा भरने का काम यह मिलन करता है |  परिवार मिलन में हिन्दी हृदय बड़ी उमंग के साथ भाग लेते हैं |  विशिष्ट अतिथि अपना विचार व्यक्त करते हैं |  साहित्यिक संगोष्ठियों के साथ हिन्दी को सही दशा दिशा प्रदान करने की बातों पर प्रकाश डाला जाता है |  ओसूर से शुरू किया गया यह मिलन चेन्नै, सेलम, मदुरै, तिरुच्चि आदि विभिन्न शहरों में संपन्न हुआ है |  इस मिलन में हिन्दी के सभी प्रेमियों सम्मानित किये जाते हैं |  शबरी परिवार की ओर से परिवार मिलन साल में एक बार चलाया जा रहा है |

 हिन्दी हृदयों में उमंग भरने के साथ हिन्दी सेवियों को गौरव प्रदान करने के उद्देश्य से शबरी परिवार की ओर से सम्मान प्रदान किया जा रहा       है |

शबरी साहित्य सम्मान

 देश भर के हिन्दी लेखकों तथा सेवियों का सम्मान शबरी शिक्षा संस्थान से किया जाता है |  शबरी साहित्य शिरोमणि सम्मान, अतुल हिन्दी सेवी सम्मान आदि से हिन्दी सेवी सम्मानित किये जाते हैं |  लेखकों के साथ हिन्दी प्रचारक, हिन्दी सेवी सम्मानित किये जाते हैं |

शबरी वाणी विकास

 शबरी के वाणी विकास परीक्षाऍं हिन्दी बोलचाल की शैली को छात्रों तक ले जाने के साथ उनमें हिन्दी के प्रति रुचि बढाने का महत्वपूर्ण कार्य करता है |  प्रांत भर के अनेक शहरों से वाणी विकास परीक्षा के लिए छात्र तैयार किये जाते हैंे |  उचित पाठ्यक्रम के साथ हिन्दी में बोलने का प्रशिक्षण इस परीक्षा से दिया जाता है |  इससे हिन्दी शिक्षकों के साथ छात्र भी लाभान्वित हैं |  तमिलनाडु के कोने कोने में हिन्दी को पहुँचाने तथा हिन्दी को हृदयों में स्थान देने के उद्देश्य से वाणी विकास परीक्षाएँ चलायी जाती हैं |

 शबरी परिवार की ओर से और भी अनेक सेवाऍं हिन्दी को हर घर में हर मन में पहुँचाने का प्रयास निरंतर जारी है |  इसके श्री एम. वेंेकटेश्‍वरन तथा श्री एम. श्रीधर भाई हिन्दी की सेवा में तन मन धन से लगे हुए हैं |  इनकी हिन्दी सेवा हर हिन्दी हृदय से प्रशंसित है |

AWARDS

"The best way to find yourself is to lose yourself in the service of others."

 Hindi Pracharak Shri M.Sridhar of Salem is honoured…

 

              In connection with the 91st Foundation Day Syndicate Bank has honoured the eminent Hindi pracharak and Publisher Mr.M.Sridhar of Salem, Tamilnadu. An ardent lover of Hindi who has completed Rashtrabhasha Praveen in Hindi has exhibited his diligent services to the language. He started some Hindi classes in Hindi in Salem to spread Hindi in the district. Owing to the importance of Spoken Hindi Shabari Siksha Santhan has started Vani Vikas Exams to make every one speak in Hindi. These exams are conducted State wide and thousands of people are speaking in Hindi. The Monthly magazine Shabari Siksha Samachar provides ample opportunities to the lovers of Hindi. It serves not only in the nation but also in different parts of the world. The selfless services of Salem Sri. M.Sridhar is appreciated by Syndicate Bank in a grand function. A sum of Rs.25,000/- and a certificate was also presented to the torch bearer of Hindi.

ஹிந்தி சேவைக்கு விருது

 சேலம், சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தான் நிறுவனர் மற்றும் நிர்வாக அறங்காவலர் ஸ்ரீ எம். ஸ்ரீதர் அவர்களுக்கு சிண்டிகேட் வங்கியின் ஸ்தாபன தின விருது.

 தேசிய மொழியாம் ஹிந்தியினை எல்லோரும் எளிமையாகக் கற்று ஏற்றம் பெற்றிட வாணி விகாஸ் ஹிந்தி பேச்சு மொழி பயிற்சித்தேர்வு, ஹிந்தி பேச்சுமொழி நூல்கள், கல்வி வெளியீடுகள், ஹிந்தி இலக்கியவாதிகளின் வாழ்க்கை வரலாறு மற்றும் அவர்களது படைப்புக்களை வெளியிடுதல் என தமிழகத்தில் அர்ப்பணிப்பு உணர்வோடு சபரி சிக்ஷா

சன்ஸ்தான் சேவை செய்து வருகின்றது. மேலும் கடந்த 17 ஆண்டுகளுக்கு மேலாக சபரி சிக்ஷா சமாச்சார் என்னும் மாத இதழையும் சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தான் பெருமையோடு வெளியிட்டு வருகின்றது.

 சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தான் மூலம் பலன் பெற்றோர் பல்லாயிரத்துக்கும் மேலானோர். இதனுடன் தரமான ஹிந்தி ஆசிரியர்களை உருவாக்குவதிலும் சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தானின் பங்களிப்பு மகத்தானதாகும்.

 இவ்வாறாக ஹிந்தி மொழி வாயிலாக தேசிய நிர்மாணப் பணியில் தம்மை முழுமையாக ஈடுபடுத்திச் சிறப்பாகத் தொண்டாற்றிவரும் சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தானின் சேவைப்பணிகள் மற்றும் அதன் சாதனைகளை கவுரவிக்கும் வண்ணம் சிண்டிகேட் வங்கியானது சபரி சிக்ஷா சன்ஸ்தான் நிறுவனர் நிர்வாக அறங்காவலர் ஸ்ரீ எம். ஸ்ரீதர் அவர்களுக்குத் தமது ஸ்தாபன தின விருதான- ஸஹஸ்ரபாஹூ ப்ரகாஷன் ஸம்மான் பாராட்டுப் பத்திரம் மற்றும் ரூ. 25000/-திற்கான காசோலையினையும் வழங்கி சிறப்பித்துள்ளது.

 

 

EVENTS

“Keep your face always toward the sunshine—and shadows will fall behind you.”

BOOKS

Provide the Best Service

CONTACT

Get In Touch

Submitting Form...

The server encountered an error.

Form received.

Contact Information

Landline : 94431-65414, 94433-65414, 98427-65414

Email     : shabarisalem@gmail.com

Address : "Shabari Palace",

               194, Second Agraharam, Salem - 636 001.

© 2018 Shabari. All Rights Reserved.

RASHTRABHASHA

HINDI DIVAS

RESULTS - 2018

शबरी की हिन्दी सेवा...

- एम. श्रीधर, संस्थापक, शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 

शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 दक्षिण भारत के अहिन्दी भाषा प्रदेश तमिलनाडु के सेलम शहर से प्रांत में मात्र नहीं भारत भर में हिन्दी की सेवा में शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम लगा हुआ है |  विभिन्न प्रकार से इस संस्थान की सेवा निरंतर आगे बढती जा रही है |  हर घर में हिन्दी, हर मन में हिन्दी का नारा अपनाकर यह संस्थान सन् १९९८ से लगभग आज तक हिन्दी सेवा में निरंतर कार्यरत है |  आरंभ में दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा परीक्षाओं के लिए छात्रों को भेजकर इस संस्थान की सेवा शुरू     हुई |  सेलम शहर में हिन्दी पुस्तकों को उपलब्ध करने के उद्देश्य से पुस्तक बिक्री शुरू की गयी |

प्रकाशन विभाग

 हिन्दी की बढती मॉंग तथा बढती हिन्दी सेवा को ध्यान में रखते हुए हिन्दी प्रकाशन विभाग शुरू किया गया | आरंभ में हिन्दी परीक्षाओं के लिए सरल व उपयोगी गॉंधीजी प्रश्‍नोत्तर प्रकाशित किया गया |  नमूने के प्रश्‍न पत्र छापे गये |  शबरी ज्ञान बोधिनी के प्रकाशन से अनेकानेक हिन्दी हृदय लाभान्वित हुए |  फिर छात्रोपयोगी किताबें प्रकाशित की गयीं | विद्यालयों के उपयोगी पुस्तकें निकाली गयीं |  ज्ञानवर्धत तथा भाषा को विकसित करनेवाली अनेक पुस्तकें निकाली गयी |  छात्रोपयोगी कुंजियॉं निकाली गयी |  हिन्दी लेखकों और कवियों का सम्मान करने हेतु कुछ पुस्तकें छापी                  गयीं |  दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा के प्राथमिक से प्रवीण तक की परीक्षाओं के लिए कुंजियॉं तैयार करने लगे |  निबंध, व्याकरण आदि के भी पुस्तकें निकाली गयीं |  शबरी शब्द सागर-त्रिभाषा हिन्दी कोश निकालकर अपने आप को एक सफल प्रकाशक बनाने का श्रेय भी इस संस्थान को मिला है |  प्रकाशन विभाग से अभी तमिल और अंग्रेजी में भी पुस्तकें प्रकाशित की जारी है |  साहित्य के साथ भाषा के संपूर्ण विकास का प्रयास निरंतर जारी है |

Read More...

RASHTRABHASHA

HINDI DIVAS

RESULTS - 2018

शबरी की हिन्दी सेवा...

- एम. श्रीधर, संस्थापक, शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 

शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम

 दक्षिण भारत के अहिन्दी भाषा प्रदेश तमिलनाडु के सेलम शहर से प्रांत में मात्र नहीं भारत भर में हिन्दी की सेवा में शबरी शिक्षा संस्थान, सेलम लगा हुआ है |  विभिन्न प्रकार से इस संस्थान की सेवा निरंतर आगे बढती जा रही है |  हर घर में हिन्दी, हर मन में हिन्दी का नारा अपनाकर यह संस्थान सन् १९९८ से लगभग आज तक हिन्दी सेवा में निरंतर कार्यरत है |  आरंभ में दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा परीक्षाओं के लिए छात्रों को भेजकर इस संस्थान की सेवा शुरू     हुई |  सेलम शहर में हिन्दी पुस्तकों को उपलब्ध करने के उद्देश्य से पुस्तक बिक्री शुरू की गयी |

प्रकाशन विभाग

 हिन्दी की बढती मॉंग तथा बढती हिन्दी सेवा को ध्यान में रखते हुए हिन्दी प्रकाशन विभाग शुरू किया गया | आरंभ में हिन्दी परीक्षाओं के लिए सरल व उपयोगी गॉंधीजी प्रश्‍नोत्तर प्रकाशित किया गया |  नमूने के प्रश्‍न पत्र छापे गये |  शबरी ज्ञान बोधिनी के प्रकाशन से अनेकानेक हिन्दी हृदय लाभान्वित हुए |  फिर छात्रोपयोगी किताबें प्रकाशित की गयीं | विद्यालयों के उपयोगी पुस्तकें निकाली गयीं |  ज्ञानवर्धत तथा भाषा को विकसित करनेवाली अनेक पुस्तकें निकाली गयी |  छात्रोपयोगी कुंजियॉं निकाली गयी |  हिन्दी लेखकों और कवियों का सम्मान करने हेतु कुछ पुस्तकें छापी                  गयीं |  दक्षिण भारत हिन्दी प्रचार सभा के प्राथमिक से प्रवीण तक की परीक्षाओं के लिए कुंजियॉं तैयार करने लगे |  निबंध, व्याकरण आदि के भी पुस्तकें निकाली गयीं |  शबरी शब्द सागर-त्रिभाषा हिन्दी कोश निकालकर अपने आप को एक सफल प्रकाशक बनाने का श्रेय भी इस संस्थान को मिला है |  प्रकाशन विभाग से अभी तमिल और अंग्रेजी में भी पुस्तकें प्रकाशित की जारी है |  साहित्य के साथ भाषा के संपूर्ण विकास का प्रयास निरंतर जारी है |